alias", true, 307); exit(); ?>

Tulsi: तुलसी का पौधा कब उखाड़ना चाहिए?

तुलसी का पौधा उखाड़ने के लिए हिंदू धर्म में कुछ नियमों का पालन करना चाहिए:

उचित दिन:

  • अनुचित दिन: रविवार, सोमवार, अमावस्या, पूर्णिमा, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण, एकादशी और पितृ पक्ष के दिनों में तुलसी का पौधा नहीं उखाड़ना चाहिए।
  • उचित दिन: इन दिनों के अलावा, आप किसी भी दिन तुलसी का पौधा उखाड़ सकते हैं।

अन्य नियम:

  • शुभ मुहूर्त: यदि आप धार्मिक मुहूर्त देखना चाहते हैं, तो आप बुधवार, गुरुवार या शुक्रवार को सुबह के समय पौधे को उखाड़ सकते हैं।
  • सूचना: पौधे को उखाड़ने से पहले, उसे जल अर्पित करें और मिट्टी को गीला कर दें।
  • गमले से हटाना: पौधे को जड़ों सहित सावधानी से गमले से निकालें।
  • नया रोपण: यदि आप एक नया तुलसी का पौधा लगाना चाहते हैं, तो इसे उसी दिन एक नए गमले में ताजी मिट्टी में रोपें।
  • पुराने पौधे का निपटान: पुराने पौधे को सम्मानपूर्वक जमीन में दबा दें या बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये केवल धार्मिक मान्यताएं हैं और इन्हें वैज्ञानिक प्रमाणों द्वारा समर्थित नहीं किया गया है। आप अपनी सुविधानुसार और पौधे की स्थिति के आधार पर इनका पालन कर सकते हैं।

अतिरिक्त जानकारी:

  • यदि आपका तुलसी का पौधा सूख गया है या बीमार है, तो उसे जल्द से जल्द उखाड़ देना चाहिए।
  • यदि आप अपने घर से दूर जा रहे हैं, तो आप तुलसी के पौधे को किसी विश्वसनीय व्यक्ति की देखभाल में रख सकते हैं या उसे अस्थायी रूप से किसी अन्य स्थान पर स्थानांतरित कर सकते हैं।
 

5 thoughts on “Tulsi: तुलसी का पौधा कब उखाड़ना चाहिए?”

  1. декларация на сумки цена

    3. Очень часто слышу, что отсутствие сертификата на какую-либо продукцию или товар не имеет большого значения. Доля правды в этих словах конечно же есть но при одном условии, если вы занимаетесь небольшим делом у себя в гараже и продаёте плоды своих трудов знакомым. Для тех кто хочет заниматься серьёзным делом услуги по сертификации просто необходимы. Орган сертификации даст вам массу преимуществ и способность держать высокую конкурентоспособность.

    Source:

    https://www.tuvaonline.ru/pochemu-pri-vybore-novogodnej-girljandy-stoit-obrashhat-vnimanie-na-sertifikat.dhtml

     
    Reply

Leave a Comment